संस्कृति नैमिषय के लिए जल संचयन: सांस्कृतिक गौरव का शंखनाद - AKJ NEWS | Online Hindi News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, October 23, 2017

संस्कृति नैमिषय के लिए जल संचयन: सांस्कृतिक गौरव का शंखनाद

बोकारो: कला व साहित्य की अखिल भारतीय संस्था संस्कार भारती बोकारो इकाई द्वारा सोमवार को कुरुक्षेत्र के लिए झारखंड की पवित्र नदी दामोदर का जल संग्रह किया गया। संस्कार भारती के प्रांतीय महामंत्री डॉ संजय कुमार चैधरी के नेतृत्व में संस्कार भारती के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं व कलाकारों ने जल संग्रह कार्यक्रम में हिस्सा लिया। जल संग्रह के मौके पर दामोदर नदी की पूजा-अर्चनी की गयी साथ ही आयोजन स्थल के समीप नदी तट की सफाई भी की गयी। संस्कार भारती के ध्येय गीत ‘साधयति संस्कार भारती भारते नवजीवनम्..’ का समवेत गायन हुआ। कार्यक्रम में संस्कार भारती बोकारो इकाई के मंत्री अमरजी सिन्हा, प्रदेश सह कोषाध्यक्ष रामाशीष सिंह, गायक व कवि अरुण पाठक, संजीव मजुमदार, सुधीर कुमार, अनुराग कुमार, रीना सिन्हा, अंजु सिंह, चंदा तिवारी, अंजु सिन्हा, नैन्सी, अनुप, चंद्रशेखर तिवारी आदि उपस्थित थे।
प्रांतीय महामंत्री डॉ संजय चैधरी ने बताया कि संस्कार भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रसिद्ध चित्रकार वासुदेव कामथ के आह्वान पर पूरे देश के कार्यकर्ता अपने-अपने प्रान्त से पवित्र नदियों का जल एवं आहूति के लिए समिधा लेकर कुरुक्षेत्र में इस महीने के अंतिम सप्ताह में आयोजित होनेवाले तीन दिवसीय राष्ट्रीय कला साधक संगम में शामिल होंगे। इसी क्रम में सोमवार की सुबह बोकारो के तेलमच्चो पुल के समीप दामोदर नदी से जल संग्रह किया गया। उन्होंने बताया कि 27 से 29 अक्टूबर तक कुरुक्षेत्र में आयोजित कला साधक संगम में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष शेखर सेन, हरियाणा के राज्यपाल, मुख्यमंत्री सहित प्रसिद्ध फिल्म निर्माता-निर्देशक सुभाष घई भी शिरकत करेंगे। डॉ चैधरी ने बताया कि संस्कृति नैमिषय संस्कार भारती द्वारा समय-समय पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की कड़ी में एक ऐसा विशेष कार्यक्रम है जो आनेवाले वर्षों में राष्ट्र की सांस्कृतिक दशा और दिशा तय करेगी। सदियों की आर्ष ऋषियों द्वारा विकसित चिंतन की उज्ज्वल परंपरा को राष्ट्रजीवन में पुनः स्थापित करेगी। इस परिकल्पना को साकार करने के लिए काशी नगरी में सांस्कृतिक शंखनाद होगा।
रिपोर्ट-अरुण पाठक

Post Bottom Ad