डीपीएस चास में बच्चों के विकास में अभिभावकों की भूमिका पर सेमिनार आयोजित - AKJ NEWS | Online Hindi News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Monday, December 18, 2017

डीपीएस चास में बच्चों के विकास में अभिभावकों की भूमिका पर सेमिनार आयोजित

बच्चों की प्रतिभा निखारने में सहयोगी बनें अभिभावक
बोकारो: वर्तमान समय मे जहां एक ओर एकल पारिवारिक स्थिति, व्यस्तता के कारण समय की कमी एवं उचित मार्गदर्शन का अभाव है, वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया के बढ़ते प्रभाव से विचलित होते बच्चों को सँवारना, उनकी सर्वश्रेष्ठता को प्रकट करने हेतु स्वस्थ वातावरण उपलब्ध कराना माता-पिता एवं अभिाभावकों के लिए चुनौती बनता जा रहा है। इस चुनौती का सामना करने के लिए जागरुकता जरूरी है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर दिल्ली पब्लिक स्कूल चास द्वारा पैरेंटिंग-सेमिनार का आयोजन किया गया, जिसमें 1000 (एक हजार) से अधिक माता-पिता एवं अभिभावकों की उपस्थिति ने सेमिनार की अहमियत को स्वीकारा। सेमिनार में रिसोर्स पर्सन के रूप में मुम्बई की विख्यात् ‘पैरेन्ट्स काॅन्सेलर‘, इमोशनल वेलनेस एक्सपर्ट एवं माॅम एण्ड डैड सिरीज की लेखिका डाॅ बिन्दु सेलाॅट थीं। उन्होंने सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा कि हर बच्चा रचना के योग्य है। उसकी सर्वश्रेष्ठता सृजनात्मकता पर निर्भर करती है। एक विशेष दृष्टिकोण बनाकर बच्चों को संकुचित न करें उन्हें अपने अनुसार बाँधे नहीं बल्कि उन्हंे स्वयं सोचने एवं करने दें, इससे उनकी प्रतिभा को निखरने का मौका मिलता है।
विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित डाॅ राधाकृष्णन सहोदया स्कूल काॅम्प्लेक्स की अध्यक्ष सह डीपीएस, बोकारो की निदेशक व प्राचार्या डाॅ हेमलता एस मोहन ने अपने संबोधन में बच्चों के माता-पिता व अभिभावकों से अपील की कि वे अपने तरीकों में थोड़ा सा बदलाव कर बच्चों के लिए स्वस्थ परिवेश दें। उन्हें खुद से कार्य करने की स्वतंत्रता देकर केवल उनकी निगरानी करें। बच्चों की प्रतिभा को निखारने के अवसर एवं वातावरण ही उपलब्ध कराएँ। सेमिनार में उपस्थित माता-पिता एवं अभिभावकों ने डाॅ बिन्दु सेलाॅट व डाॅ हेमलता द्वारा बताए गए सुझावों एवं तरीकों को एकाग्रचित होकर सुना और अपने सवालों का हल पाकर बच्चों के परवरिश हेतु एक सकारात्मक दृष्टिकोण को स्वीकार किया, इसके लिए उन्होंने डीपीएस चास के प्रबंध समिति के इस पहल की सराहना की।
-अरुण पाठक


Post Bottom Ad