झारखंड

यूपीएससी में 18वां रैंक प्राप्त अभिलाषा अभिनव ने मातृ संस्था को किया याद

डीपीएस बोकारो का उत्कृष्ट माहौल, सख्त अनुशासन विद्यार्थियों के लिए वरदान : अभिलाषा अभिनव

बोकारो: दिल्ली पब्लिक स्कूल, बोकारो की पूर्व छात्रा अभिलाषा अभिनव इस वर्ष आइएएस के लिए चयनित हुई हैं। अभिलाषा ने संघ लेक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सर्विसेज 2017 की परीक्षा में 18वां रैंक हासिल कर उल्लेखनीय सफलता हासिल की है। डीपीएस बोकारो से वर्ष 2006-07 में सीबीएसई 12वीं बोर्ड की परीक्षा पास कर चुकीं अभिलाषा अभिनव ने आइएएस के लिए चयनित होने पर स्कूल के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए कहा कि आज उनकी इस सफलता में डीपीएस बोकारो का अहम योगदान रहा है। यहां प्राप्त स्कूली शिक्षा की नींव पर ही आज उन्हें यह महत्त्वपूर्ण सफलता मिली है। प्लस टू तक की शिक्षा में यहां प्राप्त शिक्षकों का मागदर्शन बहुत ही मददगार रहा। विद्यालय की प्राचार्या डॉ हेमलता एस मोहन के कुशल नेतृत्व में डीपीएस बोकारो में पठन-पाठन का उत्कृष्ट माहौल, सख्त अनुशासन विद्यार्थियों के लिए वरदान जैसा है।
पटना के राजीव नगर की निवासी अभिलाषा नेएसी पाटिल कॉलेज नवी मुंबई से वर्ष 2012 में इलेक्ट्रोनिक्स एवं कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग में बीटेक की डिग्री ली और लगभग ढ़ाई वर्षों तक आईबीएम पुणे में नौकरी की। उनका लक्ष्य था यूपीएससी क्वालिफाई करना और इसी उद्देश्य से वर्ष 2014 में यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा दी थी, लेकिन सफलता नहीं मिली थी। इस बीच सिंडिकेट बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर उनका चयन हुआ। इसके बाद फिर उन्होंने यूपीएससी के लिए प्रयास जारी रखा और वर्ष 2016 में यूपीएससी की परीक्षा में सफलता मिली। इस बार 308वां रैंक हासिल हुआ और उनका चयन भारतीय राजस्व सेवा के लिए हुआ, लेकिन इस सफलता से वह संतुष्ट नहीं थीं और एक बार फिर से वर्ष 2017 में यूपीएससी की परीक्षा में शामिल हुईं। इस बार उन्हें अपेक्षित सफलता मिली और 18वें रैंक के साथ वह आइएएस के लिए चुनी गईं। अभिलाषा ने कहा कि आइएएस बनने के बाद वह समाज में सकारात्मक विकास के लिए व लोगों के बेहतर जीवन के लिए कार्य करेंगी। महिला सशक्तिकरण के लिए भी वह विशेष प्रयास करेंगी।

अभिलाषा ने युवाओं के लिए अपने संदेश में कहा कि ‘कुछ भी असंभव नहीं है, स्वयं पर विश्वास रखेंं। अनुशासन, कड़ी मेहनत और दृढ़ता सफलता की कुंजी हैं।’ उन्होंने लड़कियों के लिए कहा कि ‘वे ऊंचे सपने देंखें। परिवार व समाज में सुरक्षित जगह बनाएं। माता-पिता को चाहिए कि वे लड़कियों पर शादी के लिए दबाव नहीं दें। बेटियों को चमत्कार करने दें।’

डीपीएस बोकारो की निदेशक व प्राचार्या डॉ. हेमलता एस. मोहन ने डीपीएस बोकारो के विद्यार्थियों की सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि ये परिणाम राष्ट्रीय गौरव के गुण को दर्शाते हैं। इन विद्यार्थियों ने ये साबित कर दिया है कि धैर्य और दृढ़ संकल्प के साथ आप अपनी सफलता की कहानी लिख सकते हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि ये सभी सफल छात्र प्रतिबद्धता के साथ समाज व देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देंगे। वे ट्रेंड सेटर्स होंगे, जिन्हें हम अपने देश में देखता चाहते हैं।

उल्लेखनीय है कि सिविल सर्विसेज 2017 में डीपीएस बोकारो के चार पूववर्ती विद्यार्थी अभिलाषा अभिनव (18वां रैंक), अभिलाश बर्णवाल (44वां रैंक), समीर किशन (748वां रैंक) और जय किशन (768वां रैंक) सफल हुए हैं। इसके पूर्व विगत कुछ वर्षों में यूपीएससी में सफल डीपीएस बोकारो के छात्रों में अमन कुमार, रोहन कुमार झा, रवि कुमार, अजय प्रकाश, राहुल कुमार सिन्हा, चंद्र मोहन ठाकुर, सागर श्रीवास्तव, मनीष विजय, नीतीश कुमार सिंह, कुमार गौरव, रिया केजरीवाल, अनिल कुमार, शशि प्रकाश सिंह आदि के नाम शामिल हैं।

-अरुण पाठक

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker