झारखंड

डीपीएस बोकारो में सांस्कृतिक सप्ताह संपन्न

गीत, नृत्य, वादन व विजुअल आर्ट्स में बच्चों ने दिखाई अद्भुत प्रतिभा

बोकारो: बच्चों की कला प्रतिभा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से दिल्ली पब्लिक स्कूल में आयोजित सांस्कृतिक सप्ताह (कल्चरल वीक) के अंतिम दिन सुमधुर समूहगीत, मनोहारी समूह नृत्य व विजुअल आर्ट्स में सैकड़ों विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर हजारों श्रोताओं-दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
डीपीएस प्राइमरी इकाई में संगीत शिक्षक जय प्रकाश सिन्हा के नेतृत्व में विद्यार्थियों ने ‘प्रकृति के विभिन्न आयाम’ थीम पर समूहगीत की प्रस्तुति की। बेहतर प्रदर्शन के आधार पर झेलम हाउस को प्रथम, सतलज हाउस को द्वितीय व जमुना हाउस को तृतीय स्थान मिला। सीनियर इकाई के विद्यार्थियों ने विद्यालय के अश्वघोष कला भवन में समूह नृत्य की मनोहारी छटा बिखेरकर सबका मन जीत लिया। नृत्य शिक्षक निर्माल्य शर्मा व जी एन परमेश्वरन के निर्देशन में विद्यार्थियों ने प्रसिद्ध कविताओं पर केन्द्रित नृत्य प्रस्तुत किए जिसमें बेहतर प्रदर्शन के आधार पर झेलम हाउस को प्रथम, सतलज हाउस को द्वितीय व रावी हाउस को तृतीय स्थान मिला। विजुअल आर्ट्स प्रतियोगिता में बच्चों ने कला शिक्षक सुनील कुमार व अनिल कुमार गोप के निर्देशन में पोस्टर मेकिंग, सड़क सुरक्षा, फेस पेंटिंग में कठपुतली, रंगोली में संगीत के वाद्य यंत्र, वसुन्धरा व पुष्प सज्जा में अपनी रचनात्मकता का प्रदर्शन कर सबको प्रभावित किया।
डीपीएस प्राइमरी इकाई में समूह गीत प्रतियोगिता में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित डीएवी पब्लिक स्कूल सेक्टर-6 की प्राचार्या सह डॉ राधाकृष्णन सहोदया स्कूल कॉम्प्लेक्स की महासचिव श्रीमती नीलकमल सिन्हा उपस्थित थीं। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि प्रतियोगिता की थीम, बच्चों की प्रस्तुति, वेश-भूषा, मंच सज्जा सभीकुछ बहुत ही प्रशंसनीय थे। ऐसा लग रहा था कोई टीवी शो का लाइव कार्यक्रम देख रही हूं। उन्होंने शिक्षा के साथ ही बच्चों की कला प्रतिभा को तराशने व इस तरह से प्रस्तुत करने का मौका देने के लिए डीपीएस परिवार की सराहना की।
डीपीएस की निदेशक व प्राचार्या डॉ हेमलता एस मोहन ने अपने संबोधन में बच्चों की प्रस्तुतियों की सराहना करते हुए कहा कि कल्चरल वीक बच्चों की कला प्रतिभा को मंच प्रदान करने के लिए एक बेहतर प्लेटफॉर्म है। कार्यक्रमों को देखकर श्रोता-दर्शक के रुप में बैठे बच्चे भी बहुत कुछ सीखते हैं। आयोजन को सफल बनाने में प्रतिभागी बच्चों के साथ शिक्षकों की सक्रियता प्रशंसनीय रहती है। दिल्ली से पधारे सुप्रसिद्ध बांसुरीवादक पं. चेतन जोशी ने बच्चों के प्रदर्शन पर समीक्षा टिप्पणी प्रस्तुत की और कहा कि शास्त्रीय संगीत से बच्चों में सकारात्मक ऊर्जा का विकास होता है।
इसके पूर्व प्रथम दिन इस कार्यक्रम का उद्घाटन डीपीएस बोकारो की निदेशक व प्राचार्या डॉ हेमलता एस मोहन ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। ज्ञातव्य है कि बच्चों की कला प्रतिभा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से दिल्ली पब्लिक स्कूल में प्रत्येक वर्ष सांस्कृतिक सप्ताह (कल्चरल वीक) का आयोजन होता है, जिसमें विद्यालय के गंगा हाउस, जमुना हाउस, रावी हाउस, चिनाव हाउस, सतलज हाउस व झेलम हाउस के विद्यार्थी हिस्सा लेते हैं। प्रथम दिन समूह तबला वादन, एकल तबला वादन एवं समूह गान प्रतियोगिता आयोजित हुईं। सीनियर इकाई में एकल तबला वादन व समूहगान प्रतियोगिता एवं प्राइमरी इकाई में समूह तबला वादन प्रतियोगिता में सैकड़ों बच्चों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सबको आनंदित किया।
डीपीएस सीनियर इकाई में अश्वघोष कला भवन में आयोजित एकल तबलावादन व समूहगीत प्रतियोगिता में बच्चों ने क्रमशः शिक्षक निमेश राठौर व शिक्षक विक्की आनंद पाठक के निर्देशन में प्रस्तुति दी। ‘रुपक ताल’ थीम पर आयोजित एकल तबला वादन प्रतियोगिता में सतलज हाउस के कपिल कुमार ने प्रथम, जमुना हाउस के हर्ष ने द्वितीय व गंगा हाउस के शिवेन सिन्हा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। ‘रागों पर आधारित विभिन्न ऋतुओं के गीत’ थीम पर आयोजित समूह गीत प्रतियोगिता में जमुना हाउस की प्रस्तुति राग भैरव पर आधारित गीत को प्रथम, रावी हाउस की प्रस्तुति राग मालकौश पर आधारित गीत को द्वितीय व झेलम हाउस की प्रस्तुति राग गौड़ मल्हार पर आधारित गीत को तृतीय स्थान मिला।
सांस्कृतिक सप्ताह के दूसरे दिन कर्णप्रिय गीतों, मोहक नृत्यां तथा हृदय लुभावन संगीत ने अद्भुत समां बांधा जिससे हजारों की संख्या में विद्यार्थियों तथा आगंतुक अतिथिगण वाह-वाह करने पर मजबूर हो गये। डीपीएस सीनियर इकाई में अश्वघोष कला भवन में आयोजित एकल गीत प्रतियोगिता में बच्चों ने संगीत शिक्षक विक्की आनंद पाठक के निर्देशन में ‘विभिन्न रागों पर आधारित उपशास्त्रीय गीत’ थीम पर प्रस्तुति दी। बेहतर प्रदर्शन के आधार पर जमुना हाउस की नैना प्रियदर्शिनी को प्रथम, गंगा हाउस की अक्षिता पाठक को द्वितीय व सतलज हाउस की अनुष्का गांगुली को तृतीय स्थान मिला। संगीत शिक्षक मृत्युंजॉय भट्टाचार्य, निमेश राठौर व सौरभव्रता चटक्रवर्ती के निर्देशन में विद्यार्थियों ने ‘अरेबियन धुन’ थीम पर आर्केस्ट्रा प्रतियोगिता में सुंदर प्रस्तुति से सबको आनंदित किया। बेहतर प्रदर्शन के आधार पर झेलम हाउस को प्रथम, सतलज हाउस को द्वितीय व गंगा हाउस को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।
डीपीएस प्राइमरी इकाई में ‘लोकनृत्य’ थीम पर समूह नृत्य प्रतियोगिता हुई। नृत्य शिक्षिका स्वीटी अनिल कुमार व शिक्षक सौरभ चटर्जी के निर्देशन में बच्चों ने विभिन्न राज्यों के लोकनृत्यों की मनोहारी प्रस्तुति से सबका मन जीत लिया। बेहतर प्रदर्शन के आधार पर गंगा हाउस को प्रथम, सतलज हाउस को द्वितीय तथा रावी हाउस व झेलम हाउस को संयुक्तरुप से तृतीय स्थान मिला। मुख्य अतिथि श्रीमती चीनू कुमार ने बच्चों के प्रदर्शन की भरपूर सराहना करते हुए कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए इस तरह की गतिविधियां जरूरी हैं। समग्र शिक्षा प्रदान करने में डीपीएस बोकारो का योगदान प्रशंसनीय है।
अवसर पर डीपीएस चास के प्रो-वाइस चेयरमैन एन मुरलीधरन, डीपीएस बोकारो के उपप्राचार्य प्रवीण कुमार शर्मा, उपप्राचार्या पी शैलजा जयकुमार, डॉ मनीषा तिवारी, हेडमास्टर अंजनी भूषण, हेडमिस्ट्रेस मनीषा शर्मा, शालिनी शर्मा, सुनीता भारद्वाज सहित सभी शिक्षक व विद्यार्थी उपस्थित थे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker