पश्चिम बंगाल

हिन्द पत्रकारिता के एसपी सिंह की जयंती मनायी गयी

कोलकाता। महानगर के राष्‍ट्रीय पुस्‍तकाल के एनएलकेए सभागार में बुधवार को पत्रकार सुरेंद्र प्रताप सिंह की जयंती पूरे उत्‍साह के साथ मनाई गयी। एसपी के नाम से मशहूर सुरेंद्र प्रताप सिंह धर्मयुगरविवार और नवभारत टाइम्‍स के अलावा आज तक और इंडि‍या टूडे जैसे संस्‍थानों में उन्‍होंने बतौर फीचर एडीटरसंपादक और स्‍तंभकार के रुप में अपनी सेवा दी थी। उनके नेतृत्‍व में कोलकाता से प्रकाशि‍त रवि‍वार ने हिंदी पत्रकारि‍ता में एक नयी धारा को जन्‍म दिया था। इस अवसर पर वक्‍ताओं ने एसपी के बारे में लोगों को अधिक से अधिक जानकारी प्रदान करने की जरुरत पर बल दिया। कोलकाता की धरती से एसपी ने एक इति‍हास रचा था। जो बाद में आज तक जैसे इलेक्‍ट्रानिक मीडिया के रुप में उभरा। आंनद बाजार पत्रिका समूह ने भी उस समय एसपी के नेतृत्‍व में हिंदी की ताकत को पहचाना था और इस पत्रिका ने केवल दस सालों से भी कम समय में पूरे देश में राजनीति‍क पत्र‍िका के रुप में अपनी पहचान स्‍थापि‍त की थी। एसपी का नहीं होना हिंदी ही नहीं भारतीय पत्रकारिता के लिए अपूरणीय क्षति है। दिल्‍ली के उपहार सिनेमा कांड के बाद उनको खबर पढते समय हृदयाघात हुआ और उन्‍हें दि‍ल्‍ली के अपोलो अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। वहीं उनका 27 जून, 1997 को निधन हुआ था। इस समारोह का आयोजन एनएलकेए और महानायक स्‍मृति संस्‍थान के संयुक्‍त तत्‍वावधान में किया गया था। कार्यक्रम को सफल बनाने में अजय कुमार झारमेश द्विवेदीराजीव चक्रवर्तीअंशुमान भारतीपल्‍लव घोषकुणाल रायचौधरीराकेश हेलानम्रता पांडेरमाकांत पांडाश्‍यामल साहा,शीर्षेंदू सिन्‍हारामवृक्ष राम आदि की मुख्‍य भूमिका थी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker